आपको भी धोखा मिला

आपको भी धोखा मिला 2021

अगर आपको भी धोखा मिला तो ये कहानी आप जरूर पढ़े पीठ हमेशा मजबूत रखनी चाहिए क्योकि शाबासी हो या धोखा हमेशा पीछे से ही मिलते हैं ।

नमस्ते दोस्तों हाज़िर हु मैं आपके लिए एक और नयी मोटिवेशनल कहानी लेकर आते हैं इसे और सरकारी योजनाए और सरकारी नौकरी और मोटिवेशनल जैसे कंटेंट हमारी वेबसाइट Lifefact.in पर आपको हिंदी में पढ़ने को मिल जायेगा ।

आपको भी धोखा मिला 2021

ये बात पुराने समय की एक नगर में एक व्यापारी का प्रेम विवाह हुआ उनकी प्रेम की लोग मिसाल देते थे और राज्ये की सभी मशाले बूझ जाती थी पर उनकी छत पर एक मशाल हमेशा जलती रहती थी ये बात राज्ये के राजा रानी को भी पता था एक दिन राजा शाहब अपनी छत से पुरे राज्ये को देख रहे थे और देखा सभी जगह देखा अंधेरा था तभी देखा एक मकान की छत पर मशाल जल रही थी दोनों ने एक दूसरे को निहारा और बाद में चर्चा शुरू हुई

राजा ने रानी से कहा की इतनी सफलता पूर्वक कैसे ये शादी चल रही हैं ।

राजा ने कहा की सारा जो साथ हैं वो पति दे रहा हैं पति बहुत समझदार हैं उसकी वजह से ये शादी रुकी हुई हैं ।

रानी ने कहा ऐसा नहीं हैं पत्नी बहुत समझदार और सभ्य और सस्करि हैं उसको समझ हैं की रिश्ते को कैसे संभालना हैं उसकी वजह से ये रिश्ता इतनी खूबसूरती से चल रहा हैं ।

राजा रानी के बिच इसी बात को लेकर बहस होने लगी राजा ने खा वाद विवाद करने से कुछ नहीं होगा एक छोटी सी परीक्षा रखते हैं रानी ने कहा ठीक हैं क्या करना हैं बताइये राजा ने कहा व्यापारी और उसकी पत्नी दोनों की परीक्षा लगे ।

रानी ने अपनी एक दासी को व्यापारी के पास भेजा अपने एक सन्देश के साथ में जो दासी थी उसने कहा की मैं एक दासी हु मुझे रानी साहिबा ने भेजा हैं । और रानी साहिबा कह रही हैं की आप मुझे बोलने में थोड़ा हिचक हो रही व्यापारी ने कहा बोलिये ना क्या बात हैं , दासी बताया क्या की रानी साहिबा कह रही हैं की आप अपनी पत्नी की हत्या कर दीजिये रानी आपसे शादी करने के लिए तैयार हैं वो आपसे मोहित हो गई हैं ।

व्यापारी ने कहा दासी को आप मेरी तरफ से उनसे माफ़ी मांग लीजियेगा और उनसे कहियेगा की हज़ार रानिया भी आ जाये तब भी में अपनी पत्नी को नहीं त्याग सकता हु जिंदगी भर उसके साथ रहुगा उसकी रक्षा करूँगा वो दासी ये सन्देश लेकर रानी के पास आती हैं ।

अबकी बारी राजा की थी अब जो परीक्षा ली जनि थी उस व्यापारी की पत्नी की राजा ने एक नौकर को वहा भिजवाया एक सन्देश उसके साथ भिजवाया नौकर ने जाकर उस व्यापारी की पत्नी कहा उसी दिन की एक सन्देश राजा ने भिजवाया हैं और वो कह रहे हैं अगर आप अपने पति की हत्या कर दे तो राजा आपसे विवाह कर लेंगे और आपको हमारे राज्ये की रानी घोषित कर दिया जायेगा ।

जो व्यापारी की पत्नी थी उसने कहा की आज रत में 2-3 बजे के बिच में हमारे घर की छत पर जो मशाल जलती रहती हैं वो बुझ जाएगी और जब वो बुझ जाये तब समझ लेना मैंने अपने पति की हत्या कर दी जो ये राजा का प्रस्ताव हैं मानाने के लिए तैयार हु नौकर ये सन्देश लेकर राजमहल गया राजा को बताया की व्यापारी की पत्नी आपका प्रस्ताव स्वीकार कर चुकी हैं ।

आपको भी धोखा मिला 2021

राजा ने एक योजना बनाई जैसे ही मशाल बुझेगी सैनिको की टुकड़ी को घर के अंदर जाकर उस व्यपारी की जान बचानी हैं, राजा रानी छत से देख रहे थे कमाल की बात ये थी की 2-3 बजे के बिच में मशाल बुझ गई जैसे सैनिक अंदर गए मशाल बुझते ही तो देखा व्यापारी की पत्नी ने अपने पति को फांसी पर लटका दिया था व्यापारी की जान तो नहीं बचा पाए पर उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया गया ।

उस रात राजा को नींद नहीं आई राजा बैचेन हो उठा उसने सोचा क्या हो रहा उसके राज्ये में उसे औरत जात से नफरत हो गई थी राजा ने अपने एक बुद्धिमान मंत्री को बुलाया और कहा में शिकार पर जा रहा हु मैं वापस औ उससे पहले अपने राज्ये में जितनी महिलये सभी के गले कटवा दो । सबको फांसी पर लटका दो ये मेरा आदेश हैं ।

मंत्री अपने बूढ़े पिता के पास गया और कहा की राजा पागल हो गया हैं राजा का आदेश हैं सभी महिला जात को ख़त्म कर दो

बूढ़े ने कहा बेटा तुम चुप जाओ में राजा से बात कर लूंगा अपने राज्ये महल में मंत्री को डुंडा तो नहीं मिला मंत्री के घर गया और मंत्री नहीं मिला तो उसके पिता से पुछा तो उसके पिता ने एक कहानी सुनाई की राजा साहिब में आपके पिता के साथ एक शिकार पर निकला था

हम रास्ता भटक गए थे में जंगल में अंदर की तरफ चला गया मुझे बहार निकलने का रास्ता नहीं मिला तो तभी देखा एक योद्धा एक घोड़े पर सवार होकर आया रस्सी मुझ पर फेकि और मुझे बांध पर अपने साथ ले गया मुझे पता नहीं था की कहा ले जा रहा हैं ।

मुझे कब्रिस्तान में लेकर गया जब कब्रिस्तान में लेकर गया मुझे लगा की मेरा खेल यही ख़त्म होगा और मैंने बहुत अपनी जान बचने की कोशिश की पर वो ताकत वॉर था और वो एक गड्डा खोदना शुरू किया और मुझे कहा चुपचाप मेरा साथ दो ।

हमने मिलकर दो कब्रे खोदी मुझे लगा एक में तो मुझे दफनाया जायेगा पर दूसरी का नहीं पता था किसे दफनाया जायेगा एक खाण्डेर की छत से एक सर कटी लाश निचे फेक दी मुझे लग रहा था की वो अभी अभी किसी का सर कटा गया हैं ।

योद्धा ने कहा इसको दफनाना हैं वो योद्धा कोई और नहीं एक औरत थी उसने अपना परिचय दिया और कहा मुझे पता हैं तुम इस राज्ये के मंत्री और ये मेरे पति की लाश हैं।

राजा को मेरा एक सन्देश देना की मेरी हस्ती खेलती जिंदगी को बर्बाद कर कर दिया राजकुमार मुझे पाना चाहता था इसलिए मेरी पति की हत्या कर दी

Author: Vijay

Leave a Reply