Positive

सकारात्मक OR नकारात्मक अध्याय – 2

Positive और negative हम इंसान के दिमाग में दो घोड़ो की तरह दौड़ते रहते हैं सकारात्मक (Positive) or (Negative) जिसे सबसे अच्छी खुराक दी जाती हैं आखिर में वही जीतता हैं।

Positive
Positive

मस्ते दोस्तों हाज़िर हु आपके लिए एक नयी मोटीवेट करने वाली कहानी लेकर दोस्तों हम आपके लिए हमारी वेबसाइट Lifefact.in पर प्रेरणा दायक कहानी और सरकारी योजना और सरकारी नौकरी से संबंधित जानकारी आपको हिंदी प्रदान करते हैं, dosto आपको कोई सुझाव देना हो तो हमें comments कर सकते हो ।

जब वो लड़का शेर , बगीचे का मालिक और महल में जो सुन्दर लड़की सभी के सवाल को लेकर जब पहाड़ी पर पंहुचा तो देखा तो आश्यर्य चकित रह गया क्योकि पहाड़ी पर वास्तव में एक व्यक्ति था जो की भाग्ये था जाकर के वो लड़का उसे प्रणाम करता हैं ।

महाराज मेरे साथ चलो जिंदगी में से खुशिया चली गई हैं पैसा चला गया हैं मेरे साथ आ जाओ उन तीनो के सवाल भी पूछ लेता हैं और उनके सवाब ले लेता हैं और आखिरी में भाग्ये कहता हैं सुनो में तुम्हारे साथ नहीं आ सकता परन्तु तुम्हारे पीछे आ सकता हु तुम जाओ मेरे तुम्हारे पीछे पीछे आ रहा हु ।

लड़का कहता हैं ठीक आप आ जाना और लेकिन आना जरूर यह कहकर लड़का उतर आता हैं सबसे पहले वो उस महल में जाता हैं और उस लड़की के सवाल का जवाब देता हैं उसके बाद फल के बगीचे में मालिक को सवाल का जवाब देता हैं और आखिरी में जो शेर होता हैं उसकी छोटी पहाड़ी पर जाता हैं ।

शेर पूछता हैं की यात्रा कैसी रही तो लड़का बताता हैं की तुम्हारे अलावा 2 लोग और थे जिनके सवाल के जवाब लेकर के आया तो शेर पूछता हैं की क्या सवाल थे और क्या जवाब दिए तुम्हारे भाग्ये ने तो लड़का बताता हैं की जो सबसे आखिर में मिली थी उनके सवाल के जवाब दिया आया एक महल की मालिकिन थी एक महल की सुन्दर कन्या का जवाब जिस दिन वो मन चाहे लड़के से शादी करेगी तो इनकी जिंदगी में खुशिया आ जाएगी

सकारात्मक (Positive) और नकारात्मक (Negative)

तो शेर कहता हैं की तुम्हे उस लड़की ने इनाम दिया है इनाम दिया वो कह रही थी तुम मुझसे शादी कर लो इनाम में ये महल ही तुम्हारा हो जायेगा तब आराम से रहेंगे तो शेर कहता हैं तो तुमने क्या किया तो मैं क्या करता मेरे पीछे मेरा भाग्य आ रहा हैं मैं छोड़ छाड के आ गया वो महल वहा से आगे आया तो फिर शेर कहता हैं फिर कोण मिला ।

तो लड़के ने शेर को जवाब देते हुए कहा फल के बगीचे का माली वो कह रहा था की उसके बगीचे में कड़वे फल आते हैं और उसके सवाल का जवाब यह था की वहा जो झरना हैं उसमे सोना छिपा हैं वो बगीचे का मालिक या तो सोना हटा ले ताकि झरने का पानी साफ हो जाये या बगीचे के फल मीठे हो जाये या फिर दूसरे झरने से पानी लेकर सिचाई करे

तो शेर ने पुछा की उस बगीचे के मालिक ने तुम्हे इनाम दिया हां वो कह रहा था की रुक जाओ थोड़ी देर में सोना निकल देता हु वहा से सोना तुम ले जाना मेरे बगीचे में मीठे फल आने लग्गे तो शेर ने कहा तुमने क्या किया तो लड़के ने कहा में छोड़ आया क्योकि मैं मेरा भाग्य आ रहा हैं न पीछे पीछे कोण इंतजार करता तो शेर ने पुछा मेरे सवाल का क्या जवाब मिला लड़के ने कहा हां ।

Positive AND Negative

शेर से कहा लड़के ने आपके सवाल का जवाब मिला हैं आपको पता हैं आपकी बिमारी कब ठीक होगी जब ठीक जब आप दुनिया के सबसे मुर्ख व्यक्ति का सिर खा लेंगे शेर ने हाव देखा न ताव और पंजा मारा और उस लड़के की खोपड़ी फाड् दी और कहते कहते बोला बेटा तुझसे बड़ा मुर्ख कहा मिलेगा ।

छोटी सी कहानी मजेदार कहानी हमें सिखाती हैं हम में से बहुत सारे लोग इंतजार कर रहे हैं की भाग्ये मेरे पीछे आ रहा होगा लक मुझे फॉलो कर रहा होगा और सब ठीक हो जायेगा भरोसे पर बैठे हैं किसी और के ये जो किसी और के भरोसे काम न करके सोचते हैं की हो जायेगा भाग्ये के भरोसे बैठेंगे तो कुछ नहीं होगा

ये जीवन की यात्रा हैं इसमें आपके जीवन के सारे सवालों के जवाब आपके सामने हैं और आपको मिल रहे हैं और आप उनको इंग्नोरे करके चलते चले जा रहे हैं अगर ऐसे करते रहेंगे तो कुछ नहीं होने वाला भाग्य के भरोसे मत बैठिये क्या पता भाग्य हमारे भरोसे बैठा हो अपना जो भाग्ये हैं खुद से बनाइये अपने कर्मो से बनाइये ये छोटी सी कहानी यही सन्देश देती हैं ।

Author: Vijay

Leave a Reply