Positive

सकारात्मक OR नकारात्मक अध्याय – 1

सकारात्मक (Positive) और नकारात्मक (negative) हम इंसान के दिमाग में 2 घोड़ो की तरह दौड़ते रहते हैं सकारात्मक (Positive) और नकारात्मक (Negative) आखिर में वही जीतता हैं जिसे सबसे अच्छी खुराक दी जाती हैं।

नमस्ते दोस्तों हाज़िर हु आपके लिए एक नयी मोटीवेट करने वाली कहानी लेकर दोस्तों हम आपके लिए हमारी वेबसाइट Lifefact.in पर मोटिवेशनल कहानी और सरकारी योजना और सरकारी नौकरी से संबंधित जानकारी आपको हिंदी प्रदान करते हैं, दोस्तों आपको कोई सुझाव देना हो तो हमें कमैंट्स कर सकते हो ।

सकारात्मक (Positive) और नकारात्मक (Negative)

Positive
Positive

यही कहानी एक लड़के हैं जो अपने घर के बहार छाती पिट पिट कर रो रहा था अपने भाग्ये को कोस रहा था की कैसा भाग्ये हैं की मेरे पिताजी इतना पैसा छोड़कर गए और सारा ख़तम हो गया इसके पिताजी इसके लिए बहुत सारा पैसा छोड़कर गए थे सारा इसने उड़ा दिया

एक विद्वान वहा से गुजर रहे थे देखा की लड़का रो रहा हैं भाग्ये को कोस रहा हैं किसमित को कोस रहा हैं विद्वान व्यक्ति उसके पास जाकर बोले जो तुम भाग्ये को कोस रहे हो इसी बात से नाराज होकर तुमसे दूर चला गया जायो तुम उसकी तलाश में उसे लेकर जाओ और वो तुम्हारी जिंदंगी में वापस आएगा तो जिन्दंगी में सुख खुसिया पैसा सब वापस आ जायेगा लड़का हसने लगा क्या पागल जैसे बात हैं ।

भाग्ये दूर चला गया उसे लेकर आओ इस बात पर लड़का हसने लगा और बात को टाल दिया रात में जब सोया उसे सपना आया एक भाग्ये जैसा एक आदमी उचे पहाड़ की छोटी पर से लड़के की छाती पर कूदा इसकी छाती पीटना लगा और इसको कोसने लगा ऐसे ही जैसे लड़का दिन में कर रहा था घबराकर के इसकी नींद खुल गई इसे एक बात तो समझ आ गई की भाग्ये तो हैं पर वो पहाड़ की छोटी पर रहता हैं ।

मुझे उचे पहाड़ की छोटी पर जाकर भाग्ये को वापस लेकर आना हैं जिससे मेरी जिन्दंगी में पैसा वापस आये खुशिया वापस आये यात्रा पर निकल गया सबसे पहले उसे एक छोटी पहाड़ी दिखाई दी जिस पर शेर बैठा था शेर से बचता हुआ निकल ही रहा था की शेर ने इसे आवाज देकर बुलाया की इधर आओ मैं तुम्हारा शिकार नहीं करुगा

शेर ने कहा मैं बीमार हु बहुत सालो से हिल ढुल नहीं सकता और परेशां हु जा कहा रहे हो लड़के ने बताया की वहा पहाड़ की छोटी पर वहा भाग्ये रहता हैं । उसे लेकर आउगा ताकि मेरी जिंदगी में खुशिया आये

Positive AND Negative

तो शेर ने कहा की जब जा ही रहे हो तो तुम्हे भाग्ये मिल जाये तो उससे मेरे एक सवाल का जवाब लेकर आना तुम्हे इनाम दूंगा

लड़का कहता हैं क्या सवाल हैं ।

तो शेर कहता हैं मेरी इस बिमारी का इलाज पूछकर आ जाओ तुम्हे तुम्हारा मन चाहा इनाम मिल जायेगा लड़का कहता हैं ठीक आगे बाद जाता हैं और आगे देखता हैं झरने के पास फलो का बगीचा था इसे भूख लग आती हैं ।

झरने के पास जाकर हाथ पर धोकर बगीचे में जाकर फल तोड़कर जैसे ही खाता हैं और थूक देता हैं कड़वा फल था और मुँह बिगाड़ लेता हैं और तभी उस फलो का मालिक आ जाता हैं ।

हां भैया ऐसा ही होता जो आता हैं वो यही करता हैं सारे कड़वे फल हैं आप कौन सा भी फल खा लो सभी कडवे हैं वैसे आप जा खा रहे हो तो लड़का बताता हैं की पहाड़ की चोटी पर जा रहा मुझे मेरा भाग्ये मिलेगा उसे लेने जा रहा हु सारी बात बताता हैं ।

तो बगीचे का मालिक कहता हैं मेरा एक काम करना तुम्हारे भाग्ये से पूछ लेना मेरे बगीचे के फल मीठे कैसे होंगे इस सवाल का जवाब लेकर आओगे तो बदले में इनाम मिलेगा

लड़का सोचता हैं हर कोई इनाम दे रहा हैं लड़का बोलता हैं ठीक हैं पूछ लूंगा यह कहकर चल देता हैं उस पहाड़ की छोटी पर पहुंचने वाला होता हैं तो उसे एक सुन्दर महल दिखाई देता हैं वो सोचता हैं की थोड़ा आराम कर लेता हैं फिर पहुंच जायेगे

वो उस सुन्दर महल में जाता हैं तो उस महल में एक सुन्दर कन्या होती हैं वो सुन्दर कन्या कहती हैं की मैं बड़ी परेशान हु मेरे पास इतना बड़ा महल पर उदास और निराश रहती हु जिंदगी में खुश नहीं हु आप कहा जा रहे हैं बस छोटी पर पहुंचने वाला हु वहा भाग्ये रहता हैं उसे अपने साथ लेकर के आउगा और मेरी जिंदगी में खुशिया आएगी

लड़की कहती हैं आप अपने भाग्ये से मेरे एक सवाल का जवाब लेकर आएंगे तो मैं आपको इनाम दूंगी लड़का कहता हैं आपका सवाल क्या हैं तो लड़की कहती हैं की यही पूछना की मैं खुश कब होगी लड़का चला जाता हैं उस लड़की सवाल लेकर उस बगीचे के मालिक का और शेर का सवाल लेकर ……… TO BE CONTINUE

सकारात्मक (Positive) और नकारात्मक (Negative) …….. TO BE CONTINUE

Author: Vijay

Leave a Reply